Thursday, 17 October 2019

एक प्यार ऐसा भी

उसने मुझे जब पहली बार देखा
उसे एक अलग अहसास हुआ
वो इस कदर डूबी उस अपने ही बनाए संसार में
उसने अपना दिल अपना मन मुझ पर बार दिया।

में भी तो अंजना था इस बयार से
जो उसने दिया मुझे अपने  प्यार से
में भी डूब गया उस एहसास में
बिना कुछ सोचे बिना कुछ विचारे


पर एक समय आया उसने किसी और का हाथ थाम लिया
उसने मेरे और अपने दिल से बने उस रिश्ते को भुला दिया
मुझे जिंदगी भर के लिए आंसू दे गया।

No comments:

Post a Comment